वेब होस्टिंग क्या है वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है

वेब होस्टिंग क्या है वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है

SHARE

इंटरनेट मे जब हम ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है तो हमारे पास दो चीज़े होनी चाहिए  सबसे पहला है पहला डोमेन और दुसरा वेब होस्टिंग(Web Hosting) इन दोनों के बिना आप  इंटरनेट मे वेबसाइट या ब्लॉग नहीं बनाना सकते डोमेन क्या है इसके बारे मे तो आप जानते ही होगे अगर आप नहीं जानते तो आप इस पोस्ट को जरुर पढ़े ये आपके लिये बहोत जरुरी है डोमेन क्या है डोमेन कहा से खरीदना चाहिए क्यों की एक सही डोमेन प्रोवाइडर को चुन्ना भी बहोत जरुरी है जितना की एक सही वेब होस्टिंग चुनना.

वेब होस्टिंग खरीदना बड़ी बात नहीं है हर कोई खरीद सकता है ये आपको  5-6 हजार के बीच मे  मिल जायेगा लेकिन होस्टिंग को खरीदने से पहले आपको इसके बारे मे जाना बहोत जरुरी है क्यों की इसके बहोत  सारे प्रकार होते है शुरुवात मे कोनसे होस्टिंग चुने और कहा से ख़रीदे ये जाना बहोत ही जरुरी है क्यों की बहोत से ब्लॉगर जिन्हे होस्टिंग के बारे मे पता नहीं होता वो लोग डायरेक्ट मेहेंगे होस्टिंग को खरीद लेते है उन्हे लगता है की सब वेब होस्टिंग एक ही है

Web Hosting क्या है ?

इंटरनेट मे आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिए एक जगह की जरुरत होती है जिसे हम इंटरनेट की भाषा मे वेब होस्टिंग(web hosting) कहते है  जब हम इंटरनेट मे होस्टिंग खरीदते है तो हमें इंटरनेट मे एक स्पेस यानि जगह मिलती है जहा हमारा ब्लॉग या वेबसाइट एक्टिव रहता है और इस जगह को हम जो भी नाम देते है जिससे लोग हमारे वेबसाइट या ब्लॉग को देखते है उसे हम डोमेन कहते है 

आइये इसे एक उदाहरण से समझते है जिस तराह आपको धरती मे रहते के लिए के जगह या प्लोट की जरुरत होती है उसी तराह इंटरनेट मे आपके ब्लॉग को भी एक जगह की जरुरत होती है जिसे हम वेब होस्टिंग कहते है इसी के अन्दर हमारे सारे पोस्ट ,फोटोज ,फाइल्स विडियो इत्यादि सेव रहता है और ये 24 घटे एक्टिव रहता है जिससे की हमारा ब्लॉग हमेशा ऑनलाइन रहे अब ये जगह जो हमें प्रदान करते है उन्हे हम वेब होस्टिंग कंपनी कहते है

Web Hosting कितने प्रकार की होती है

वेब होस्टिंग क्या है इसके बारे मे तो आपने जन लिया है अब ये web hosting कितने प्रकार की होती इससे जाना भी जरुरी है वैसे तो वेब होस्टिंग के बहोत से प्रकार होते है उदाहरण के लिए : शेयर्ड होस्टिंग (shared hosting), VPS वर्चुअल प्राइवेटसर्वर( Virtual Private Server),डेडिकेटेड होस्टिंग(Dedicated Hosting) और क्लाउड होस्टिंग(Cloud hosting) आइये इनके बारे मे एक एक कर के जान लेते है

शेयर्ड वेब होस्टिंग (Shared Web Hosting) 

शेयर्ड होस्टिंग का मतलब होता है होस्टिंग को शेयर करना इसमे एक सर्वर होता है जिसमे बहोत सारे वेबसाइट एक साथ होते है और ये सरे वेबसाइट इस होस्टिंग को शेयर करते है जिस तराह हम एक रूम मे अपने दोस्तों के साथ एक साथ रहते रहते है   और उसका किराया शेयर करते है शेयर्ड होस्टिंग भी इसी तराह से काम करता है जिसमे एक सर्वर होता है जहा पे हजारो वेबसाइट होती है और हर वेबसाइट अपना अपना किराया वेब होस्टिंग कंपनी को देता है इस होस्टिंग को उसे करने के बहोत से फायदे भी है और नुकशान भी आइये इन्हें जान लेते है

shared hosting

शेयर वेब होस्टिंग के फायदे  (Advantage)

  • सबसे पहले फायदा ये है की ये होस्टिंग बहोत ही सस्ती होती है
  • नए ब्लॉगर के लिए सबसे best होस्टिंग है

 

शेयर वेब होस्टिंग के नुकशान (disadvantage)

  • अगर आपका वेबसाइट पोपुलर हो जाए तो ये तब ये होस्टिंग आपके वेबसाइट की स्पीड यानि लोडिंग स्पीड को धीमा कर देता है
  • हाई ट्रैफिक (High traffic ) को हैंडल नहीं कर सकता इसलिए ये नए ब्लॉगर के लिए ठीक माना जाता है क्यों की न्यू ब्लॉग मे कम ट्रैफिक होता है आप चाहे तो बाद मे शेयर्ड होस्टिंग को चेंज कर सकते हो जब आपके ब्लॉग या वेबसाइट मे ज्यादा ट्रैफिक आने लगे

वर्चुअल प्राइवेट सर्वर होस्टिंग (Virtual Private Server Hosting)

वर्चुअल प्राइवेट सर्वर होस्टिंग को हम VPS  होस्टिंग भी कहते है जिस तराह एक बिल्डिंग मे बहोत सारे कमरे यानि रूम होते है  और आप उस कमरे मे रहते है तो उस कमरे मे सिर्फ आपका हक़ होता है दुसरा कोई आके इसमे नहीं रह सकता . इसी तराह VPS होस्टिंग भी ऐसा ही होता है जिसमे एक सर्वर को अलग अलग भाग मे बाटा जाता है और  जो भाग मे आपका वेबसाइट या ब्लॉग है वो भाग मे कोई दुसरा वेबसाइट नहीं आ सकता मतलब ये है की ये आपका प्राइवेट सर्वर है इसे आपके किसी और के साथ शेयर करने की जरुरत नहीं है

VPS होस्टिंग के फायदे

  • ये होस्टिंग बहोत सिक्योर (Secure) होता है
  • अच्छा परफॉरमेंस देता है
  • शेयर्ड होस्टिंगसे ज्यादा ट्रैफिक को हैंडल कर सकता है

VPS होस्टिंग के नुकशान

  • शेयर्ड होस्टिंग से थोडा ज्यादा मेहेंगा होता है

डेडिकेटेड वेब होस्टिंग ( Dedicated Web Hosting)

इस  होस्टिंग मे आपको एक पूरा सर्वर आपका होता  जिसमे सिर्फ आपका हक़ होता है उदाहरण के लिए जैसे की आपने एक नया घर ख़रीदा है जिसमे सिर्फ आपका हक़ होता है यानि की पूरी की पूरी बिल्डिंग आपका है इसमे जो भी घर के सामान वगेरा होंगे वो सर्फ आपके होंगे किसी और के नहीं, उसी तराह इस  होस्टिंग मे आपका  एक अपना अलग  सर्वर होता है जिसमे सिर्फ आपके वेबसाइट के फाइल्स ,फोटोज,और विडियो होंगे

डेडिकेटेड वेब होस्टिंग के फायदे

  • सबसे बड़ा फायदा ये है की ये होस्टिंग जितने भी हाई ट्रैफिक को हैंडल कर सकता है
  • ये होस्टिंग बहोत ही ज्यादा सिक्योर होता है
  • हाई परफॉरमेंस देता है

डेडिकेटेड वेब होस्टिंग के नुकशान

  • ये होस्टिंग बहोत ज्यादा मेहेंगी होती है

क्लाउड वेब होस्टिंग (Cloud Web Hosting)

ये सबसे ज्यादा भरोसे मंद माना जाता है क्यों की इसमे बहोत सारे सर्वर एक साथ होते है एक क्लाउड की तराह जिससे ये फायदा होता है की  वेबसाइट डाउन होने के बहोत कम यानि ना के बराबर होता है और हाई ट्रैफिक को आसानी से हैंडल किया जा सकता है

क्लाउड होस्टिंग के फायदे

  • सर्वर डाउन होने के बहोत कम चांसेस होते है
  • हाई ट्रैफिक को आसानी से हैंडल कर लेता है

क्लाउड होस्टिंग के नुकशान

  • नुस्कान ये है की क्लाउड वेबसाइट को रूट एक्सेस नहीं देता
  • ये होस्टिंग भी थोड़ी मेहेंगी होती है

[box type=”shadow” align=”” class=”” width=””]अब आपने जान लिया है की वेब होस्टिंग क्या है और वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है इसके बाद आप अब आप होस्टिंग खरीदने की सोच रहे है तो लिए आप ये पोस्ट जरुर पढ़े वेब होस्टिंग कहा से ख़रीदे ये पढ़कर आपको पता चल जायेगा की वेब होस्टिंग कहा से ख़रीदे और क्यों ख़रीदे[/box]

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY