सॉफ्टवेर इंजिनियर कैसे बने

सॉफ्टवेर इंजिनियर कैसे बने

SHARE

आज कल जैसे जैसे टेक्नोलॉजी आगे बढ़ता जा रहा है लोगो की रुची भी कंप्यूटर और और इन्टरनेट की दुनिया के तरफ काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है भारत में लाखो करोडो ऐसे बच्चे है जिन्हें कंप्यूटर में इंटरेस्ट है और वे आगे जाके एक अच्छा इंजिनियर बनना चाहते है चाहे वो मोबाइल इंजिनियर हो , कंप्यूटर इंजिनियर हो या या फिर सॉफ्टवेर इंजिनियर हो तो कई सारे विद्यार्थी ऐसे है जिन्हें कंप्यूटर में काफी ज्यादा रूचि है और वे एक सॉफ्टवेर डेवलपर बन्ना चाहते है लेकिन कई लोगो को ये नहीं पता की एक सॉफ्टवेर इंजिनियर (Software Engineer) बन्ने के लिए क्या क्या करना चाहिए तो आज के इस आर्टिकल में में आपको बताऊंगा की कैसे एक सॉफ्टवेर इंजिनियर बने (How to Become Software Engineer in Hindi) हाउ तो बेकोमे सॉफ्टवेर इंजिनियर इन हिंदी, इसके लिए हमें क्या क्या क्वालिफिकेशन चाहिए  हमें कोन सी पढाई करना चाहिए.

सॉफ्टवेर इंजिनियर क्या होता है ये जाने से पहले आपको ये जाना बहोत जरुरी है की आखिर सॉफ्टवेर इंजिनियर होता क्या है व्हाट इस सॉफ्टवेर इंजिनियर इन हिंदी (What is software Engineer in Hindi) और इनका काम क्या होता है सॉफ्टवेर इंजिनियर एक व्यक्ति होता है जिसे हम सॉफ्टवेर डेवलपर भी कहते है है जिसका काम होता है किसी भी कंप्यूटर या फिर मोबाइल एप को बनाना तो इसके लिए सॉफ्टवेर इंजिनियर के पास कुछ चीजों का ज्ञान होना चाहिए.

software engineer
pixabay

एक बेहतर यानि की प्रोफेशनल (Professional) सॉफ्टवेर इंजिनियर बन्ने के लिए के लिए आपके पास कई चीजों का ज्ञान और स्किल्स (Skills) होना बेहद जरुरी है इसके साथ ही आपको को किसी भी सॉफ्टवेर को डेवेलोप (Develop) करना है तो इससे पहले आपको कई कंप्यूटर भाषाओ (Computer Language) का ज्ञान होना बेहद जरुरी है बिना कंप्यूटर लैंग्वेज के आप सॉफ्टवेर को नहीं बना सकते तो चलिए जान लेते है की एक सॉफ्टवेर इंजिनियर (Software Engineer) बन्ने के लिए हमें किन किन चीजों का ज्ञान होना बेहद जरुरी है.

सॉफ्टवेर इंजिनियर (Software Engineer) कैसे बने

 1. कंप्यूटर में बैचलर डिग्री करे

एक सॉफ्टवेर इंजिनियर बन्ने के लिए सबसे पहले आपको बैचलर डिग्री (Bachelor Degree) करना होगा किसी भी कंप्यूटर फील्ड में जैसे की कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (Computer Science Engineering) , बीसीए (BCA) , बैचलर ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (Bachelor of Information Technology) इत्यादि जैसे डिग्री कोर्स कर सकते है तो इसके लिए आपको इन सब चीजों के बारे में मन लगाकर पढना होगा तभी आप एक बेहतर सॉफ्टवेर डेवलपर बन सकते है

  • कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग
  • बीसीए
  • बैचलर ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी
 2. कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखे

अगर आपको एक सॉफ्टवेर इंजिनियर बनना है तो इसके लिए आपको कंप्यूटर के कुछ भाषाओं का ज्ञान होना बहोत जरुरी है जैसे की C लैंग्वेज , C++ , Java , पाईथन , सी शार्प इत्यादि क्यों की बिना कंप्यूटर लैंग्वेज के आप किसी भी सॉफ्टवेर को नहीं बना सकते तो इसके लिए आपको कंप्यूटर भासा का ज्ञान होना चाहिए तो अगर आप कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (Computer Science Engineering) , बीसीए (BCA) , बैचलर ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (Bachelor of Information Technology)  जैसे कोर्स  में   डिग्री करते है तो इसमें आपको ये सभी चीज़े सिखाई जाती है.

  • c लैंग्वेज सीखे
  • c++ लैंग्वेज सीखे
  • java लैंग्वेज सीखे
  • c शार्प लैंग्वेज सीखे
 3. प्रोगाम्मिंग लॉजिक को स्ट्रोंग बनाये

अगर आपको एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेर डेवलपर बनाना है तो इसके लिए आपको अपने लॉजिक (Logic) को बेहतर बनाना होगा क्यों की कंप्यूटर में जितने भी सॉफ्टवेर बनते है उसमे लॉजिक लगाना बहोत जरुरी है तभी आप एक बेहतर सॉफ्टवेर को बना सके है तो इसके लिए बैचलर डिग्री जैसे की कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में आपको अलग से लॉजिक बिल्डिंग (Logic Building) का कोर्स होता है जिसकी मदद से आप अपने लॉजिक को इम्प्रूव कर सकते है

 4. सॉफ्टवेर बनाने की कोसिस करे

एक बार अगर आपको कंप्यूटर भाषा का ज्ञान हो गया है तो इसके बाद आपको सॉफ्टवेर को बनाने की कोसिस करनी चाहिए इससे आपका कोडिंग में स्किल्स ओर बेहतर होगा और धीरे धीरे आपको समझ में आने लगेगा की कैसे एक सॉफ्टवेर बनता है और एक सॉफ्टवेर को बनाने के लिए आपको क्या क्या चीज़े चाहिए क्यों की सिर्फ किताबी चीजों को पढ़कर कर आप एक बेहतर सॉफ्टवेर इंजिनियर (Software Engineer) नहीं बन सकते.

  • रोजाना कोडिंग की प्रैक्टिस करे
  • शुरुवात में छोटे छोटे सॉफ्टवेर बनाने की कोसिस करे
  • अपने लॉजिक को स्ट्रोंग बनाये
 5. इंटर्नशिप के लिए अप्लाई करे

जैसे ही आपने कंप्यूटर साइंस में डिग्री पूरा कर लिया और इसके बाद आपको थोडा बहोत छोटे मोटे सॉफ्टवेर को बनाना आ गया तो इसके बाद आपको किसी भी कंपनी में एक फ्रेशेर (Fresher) इंटर्नशिप (internship) के लिए जाना चाहिए इससे क्या होगा आपको समझ आजायेगा की सॉफ्टवेर किस तरह बनता है और आपकी कोडिंग स्किल्स और ज्यादा इम्प्रूव होता चला जायेगा इसके साथ ही आपको सॉफ्टवेर डेवलपमेंट (Software Development) में एक्सपीरियंस भी हो जायेगा जो की आगे चल के आपको काफी काम आएगा.

 6. कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री करे

अगर आप एक अच्छे सॉफ्टवेर इंजिनियर के साथ साथ एक अच्छी सैलरी भी चाहते है तो इसके लिए आपको कंप्यूटर में मास्टर डिग्री करना बेहद जरुरी है तो इसके लिए आप मास्टर इन कंप्यूटर साइंस (MCS) , मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (MCA) इत्यादि जैसे कोर्स के लिए आगे की पढाई कर सकते है इससे आपको काफी फायदा होगा आगे जाके.

तो सब चीज़े या फिर कहे तो कुछ क्वालिफिकेशन है जो की एक सॉफ्टवेर इंजिनियर (Software Engineer) में होना चाहिए तभी आप एक बेहतर कंप्यूटर सॉफ्टवेर या फिर मोबाइल सॉफ्टवेर बनाने वाले कंप्यूटर सॉफ्टवेर इंजिनियर बन सकते है

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY