टू स्टेप वेरिफिकेशन ( 2 step Verification ) क्या है फायदे और...

टू स्टेप वेरिफिकेशन ( 2 step Verification ) क्या है फायदे और नुकशान

SHARE

इन्टरनेट एक ऐसा जाल है जहा पे कुछ भी सेफ(safe) नहीं है यानी आपकी डिटेल्स बैंक अकाउंट , पासवर्ड कुछ भी हैक हो सकता है इन्टरनेट की दुनिया में ऐसी कोई भी चीज़ नहीं है जो हैक नहीं हो सकता है लेकिन हैक करने वालो के लिए ये चीज़ इतना मुस्किल बना दो वो हार मान जाए इसी के लिए टू स्टेप वेरिफिकेशन फीचर बनाया गया है तो आज के इस पोस्ट में , हम आपको टू स्टेप वेरिफिकेशन (2 Step Verification) के बारे में बताऊंगा ये क्या है इसके फायदे क्या है और नुकशान क्या है

2 step verification

आज कल हर कोई अपने अकाउंट को सेफ रखने के लिए टू स्टेप वेरिफिकेशन (2 Step Verification) इनेबल यानि ओन करता है इस फीचर का यूज़ आज कल हर ऑनलाइन चीजों में होता है जैसे की ऑनलाइन ट्रांस्जक्सन(Online Transaction) यानि अगर आप अपने डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड से कुछ भी ऑनलाइन पेमेंट करते है, ईमेल अकाउंट अपने ईमेल अकाउंट को हैक होने से बचाने के लिए  , वत्सअप  (WhatsApp) , फेसबुक इत्यादि में टू स्टेप वेरिफिकेशन का यूज़ किया जाता है

टू स्टेप वेरिफिकेशन (2 Step Verification) क्या है ?

टू स्टेप वेरिफिकेशन जिसे हम टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन (Two Factor Authentication) भी कहते है ये एक सिक्यूरिटी लेयर है जो की आपके अकाउंट जैसे की बैंक अकाउंट ईमेल अकाउंट इत्यादि को और ज्यादा सिक्योर बना देता है या फिर हम ये भी कह सकते है की ये आपके अकाउंट की सिक्यूरिटी (Security) को डबल कर देता है

ज्यादर लोग अपने पासवर्ड को हर वेबसाइट में एक जैसा रखते है जिससे की आपका अकाउंट आसानी से हैक हो सकता है अगर आपके एक भी पासवर्ड किसी भी हैकर को पता चल गया तो वो आपके सारे एकाउंट्स को आसानी से हैक कर सकता है तो  यहाँ पर 2 Step Verification बहोत काम आता है अगर आपने टू स्टेप वेरिफिकेशन को इनेबल कर रखा है और किसी हैकर को आपका पासवर्ड पता है तो वो हैकर तब भी आपका अकाउंट हैक नहीं कर सकता क्यों की हैकर को अकाउंट यूज़ करने के लिए 2 स्टेप वेरिफिकेशन से गुजरना पड़ेगा तभी हैकर आपके अकाउंट को यूज़ कर सकता है

टू स्टेप वेरिफिकेशन (2 Step Verification) काम (work) कैसे करता है

अब आप सोच रहे होंगे की टू स्टेप वेरिफिकेशन काम कैसे करता है और ये किस तरह हमारे अकाउंट को सिक्योर करता है तो में आपको बताता हु की ये कैसे काम करता है और किस तरह ये आपके अकाउंट को हैक होने से बचाता है

आपने ओ टी पी (OTP) के बारे में तो सुना ही होगा जिसे हम वन टाइम पासवर्ड(One Time Password) कहते है तो समझ लीजिये की ये टू स्टेप वेरिफिकेशन OTP ही है टू स्टेप वेरिफिकेशन में आपका मोबाइल नंबर रजिस्टर किया जाता है यानि अगर कोई भी यूजर के पास आपका पासवर्ड है और वो लॉग इन करता है  आईडी और पासवर्ड के साथ तो उसके बाद आपके मोबाइल मे एक ओ टी पी कोड आता है जब तक आप वो कोड नहीं डालेंगे आपका अकाउंट ओपन नहीं होगा या फिर आप उसे एक्सेस नहीं कर पाएंगे तो इस तराह ये आपके अकाउंट को सिक्योर कर देता है

2 स्टेप वेरिफिकेशन (2 Step Verification) के फायदे और नुकशान

2 Step Verification के फायदे :

  • आपके अकाउंट की सिक्यूरिटी को डबल कर देता है
  • Unauthorized access से बचाता है
  • ऑनलाइन ट्रांसजेकसन(Online Transaction) को सेफ बनाता है

2 Step Verification के नुकशान  :
सबसे बड़ा और मेन नुकशान यही है की अगर आपका मोबाइल नंबर खो जाता है या अगर आपके पास आपका मोबाइल नंबर नहीं है तो आपको लॉग इन करने में परेशानी आ सकती है क्यों की 2 step verification में जो ओ टी पी आता है वो आपके मोबाइल नंबर पे आता है तो अगर आपके पास आपका मोबाइल नंबर नहीं है तो आप कैसे एक्सेस कर पाएंगे


ये भी पढ़े :
कंप्यूटर से वायरस को पूरी तराह कैसे हटाये बेस्ट तरीका
IMEI Number मोबाइल में आई एम इ आई नंबर क्या होता है
विंडो डिफेंडर (Window Defender) क्या है कैसे एक्टिवेट करे

टिप्स : अगर आप अपने अकाउंट को हैक होने से बचाना चाहते है तो में आपको कहूँगा की 2 step Verification को जरुर यूज़ करना चाहिए इससे आपके एकाउंट्स को हैक करना लग भग बहोत मुस्किल हो जायेगा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY